15 अगस्त पर छोटा भाषण | Short Speech On 15 August

जय हिन्द। जय भारत दोस्तों आक के इस आर्टिकल में 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर छोटा भाषण आप के साथ शेयर करने वाले है जो आप अपने स्कूल, Collage में 15 अगस्त पर यह छोटा भाषण सुना सकते है।  

Table of Contents

15 अगस्त पर छोटा भाषण
15 अगस्त पर छोटा भाषण | Short Speech On 15 August

15 अगस्त पर छोटा भाषण

माननीय मुख्य अतिथि, आदरणीय शिक्षकगण और मेरे प्यारे देशवासियों, आज हम भारत के 75 वें स्वतंत्रता दिवस को मनाने के लिए यहाँ एकत्रित हुए हैं। यह हमारा महत्वपूर्ण राष्ट्रीय पर्व है। इस पावन अवसर पर आप सभी को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ।

भारत को ब्रिटिश शासन से 1947 में 15 अगस्त को आजादी मिली। यह वह दिन है जब हमें भारत के महान स्वतंत्रता सेनानियों द्वारा कई वर्षों के कठिन संघर्ष के बाद ब्रिटिश शासन से आजादी मिली।

हम भगत सिंह, खुदी राम बोस और चंद्रशेखर आजाद के बलिदान को कभी नहीं भूल सकते, जिन्होंने कम उम्र में अपने देश के लिए अपनी जान गंवा दी। हम नेताजी और गांधीजी के सभी संघर्षों को कैसे नजरअंदाज कर सकते हैं? गांधीजी एक महान भारतीय व्यक्तित्व थे जिन्होंने भारतीयों को अहिंसा के बारे में एक महान पाठ पढ़ाया।

स्वतंत्रता के बाद हमारा भारत देश विज्ञान, प्रौद्योगिकी, शिक्षा, खेल जैसे कई क्षेत्रों में , उन्नति कर रहा है। हमें अपनी सरकार चुनने और दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र का आनंद लेने का पूरा अधिकार है। परन्तु आज भी हमारे देश में आतंकवाद, भ्रष्टाचार असमानता, बेरोजगारी जैसे समस्याएँ हैं।

देश के जिम्मेदार नागरिक होने के नाते आज हम सब प्रतिज्ञा करते हैं कि इस समस्याओं को सुलझाने के लिए हम पूरे प्रयास करेंगे और भारत को विश्व को बेहतरीन देश बनाएंगे।

जय हिन्द। जय भारत।

15 अगस्त पर छोटा भाषण in Marathi | 15 ऑगस्ट मराठी भाषण

माननीय मुख्य अतिथी, आदरणीय शिक्षकगण आणि माझे प्रिय देशवासी, आज हम भारत के 75 वे स्वतंत्रता दिवस मनाने साठी येथे उपस्थित आहेत. यह हमारा महत्वपूर्ण राष्ट्रीय पर्व है। हा पावन अवसर तुम्हाला सर्व स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभेच्छा.

भारत को ब्रिटीश सरकार 1947 मध्ये 15 ऑगस्ट को आजादी मिली. यह तो दिन है जब हम भारत के महान स्वतंत्र सेनानी द्वारा अनेक वर्षे संघर्ष केल्यावर ब्रिटिश शासन से आजादी मिली.

हम भगत सिंह, खुदी राम बोस आणि चंद्रशेखर आजाद के बलिदान को कभी नहीं भूल सकते, कम वयात आपल्या देशासाठी जान गंवा दी। हम नेताजी आणि गांधीजी के सर्व संघर्ष कसे नजरअंदाज करू शकतात? गांधीजी एक महान भारतीय व्यक्तित्व थे भारतीयां को अहिंसा बद्दल एक महान पाठ पढिया.

स्वतंत्रता के बाद हमारा भारत देश विज्ञान, तंत्रज्ञान, शिक्षण, खेळ जैसे अनेकांना, उन्नती कर रहा आहे. हम अपनी सरकार चुनने आणि जगातील सर्वात मोठी लोकतंत्र का आनंद घेण्याचा अधिकार आहे. परन्तु आजही आमच्या देशात आतंकवादी, भयंकर असमानता, बेरोजगारी जैसी समस्या आहेत.

देशाच्या जबाबदार नागरिकांचे नाते आज आम्ही सर्व प्रतिज्ञा करतो कि इस समस्या को सुलझानेसाठी आम्ही संपूर्ण प्रयत्न करू आणि भारताला विश्वाचे सर्वोत्कृष्ट देश बनवले.

जय हिन्द। जय भारत।

RELATED ARTICLES
Brahmastra-Movie-Download-Kaise-kare

Brahmāstra Movie Download:- नमस्कार दोस्तों, आज के इस लेख में हम जानेंगे कि Brahmāstra Movies को फ्री में कैसे डाउनलोड किया जाता है,

आप सबको तो पता ही है की पिछले कुछ दिनों से मुंबई में चल रहे राजनीती संकट में राज्यपाल का फ्लोर टेस्ट कराने

Leave a Comment