स्वतंत्रता दिवस पर संस्कृत में निबंध | Sanskrit Essay on Independence Day

स्वतंत्रता दिवस पर संस्कृत में निबंध

स्वतंत्रता दिवस: भारतस्य प्रमुख: राष्ट्रीय पर्वः अस्ति। अयं हि दिवसो भारत देशम् स्वतन्त्रम् अभवत्। १९४७(1947) तमस्य वर्षस्य ‘अगस्त’-मासस्य पञ्चदशे दिनाङ्के भारतगणराज्यं स्वतन्त्रता प्राप्तवान्। अतएव वयम् सर्वे भारतीयाः इमम् उत्सवम् प्रतिवर्षं सोल्लासं समायोजयन्ति।

स्वतंत्रतादिवस: भारतीयजनानाम् साहसस्य विजयस्य च प्रतीकम् अस्ति। देशस्य प्रधानमंत्री रक्तदुर्गे त्रिवर्ण ध्वजम् आरोहति। विद्यालयेषु अपि अयं उत्सवः भवति। सर्वे छात्रा: स्वच्छं गणवेशं परिधाय विद्यालय आगच्छन्ति। प्रधानाध्यापक: ध्वजारोहणं करोति।सर्वे राष्ट्रगानं गायन्ति।

छात्रा: विविधान् कार्यक्रमान् कुर्वन्ति। अन्ते मिष्ठान्नवितरणं भवति। स्वतंत्रतादिवस: अस्माकं राष्ट्रस्य एकताया प्रताव अस्ति।

स्वतंत्रता दिवस संस्कृत निबंध का हिंदी अनुवाद:-

स्वतंत्रता दिवस भारत का प्रमुख पर्व है। इसी दिन भारत देश स्वतंत्रत हुआ था। 1947 में 15 अगस्त को भारत ने स्वतंत्रता प्राप्त की। इसी वजह से हम भारती एस पर्व को ख़ुशी और उत्साह के साथ मानते है।

स्वतंत्रता दिवस भारतीय लोगो के साहस और विजय का प्रतीक है। देश के प्रधानमंत्री लालकिले पर तिरंगा फहराते है। विद्यालय में भी यह उत्सव होता है। सभी छात्र साफ सुथरी गणवेशं(ड्रेस) पहना के विद्यालय है। प्रधानाध्यापक ध्वजारोहणं करते है। और सभी लोग राष्ट्रगानं गाते है।

छात्र अनेक प्रकार के कार्यक्रम करते है। और अंत में सभी को मिष्ठा दिया जाता है। स्वतंत्रता दिवस हमारे राष्ट्र का प्रतीक है।

Leave a Comment